Indian economy growing size भारत बना दुनिया की तीसरी बड़ी इकॉनमी, अमेरिका को पछाड़ चीन पहले नंबर पर, जापान-रूस हमसे पीछे

Indian Economys growing up

Indian economy growing size अब भारत बना दुनिया की तीसरी बड़ी इकॉनमी, अमेरिका को पछाड़ चीन पहले नंबर पर, जापान-रूस हमसे पीछे है |

2023 मे भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी इकॉनमी है, जब हम परचेजिंग पावर पैरिटी (PPP) से तुलना करते हैं। इस समय, भारत की अर्थव्यवस्था की मूल्यांकन करते समय उसकी गणना 11.8 लाख करोड़ डॉलर के साथ की जा रही है, जिससे यह विश्व में तीसरे स्थान पर आ गया है। सिर्फ अमेरिका और चीन ही इसमें आगे हैं। इस लिस्ट में जापान चौथे स्थान पर है, जबकि रूस 5.32 ट्रिलियन डॉलर के साथ पांचवें स्थान पर है। जर्मनी इस लिस्ट में छठे स्थान पर आती है।

संक्षेप में Indian economy growing size

भारत अपने विशाल जनसंख्या, समृद्ध धरोहर और अद्भुत संस्कृति के साथ विश्वभर मशहूर है। आज, यह दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है जिसकी जीडीपी 3,750 अरब डॉलर है। इस लेख में, हम इस बड़े उपलब्धि के पीछे भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास के संकेत और विश्व में इसकी प्रमुखता के पीछे के कारणों को जानेंगे।

इसके साथ ही इस साल 2023 मे इंडोनेशिया परचेजिंग पावर पैरिटी के मामले में सातवीं सबसे बड़ी इकॉनमी है। इस लिस्ट में फ्रांस नौवें स्थान पर है, यूके दसवें, कनाडा 16वें और ऑस्ट्रेलिया 19वें स्थान पर हैं।

भारत अपने विशाल जनसंख्या, समृद्ध धरोहर और समृद्ध संस्कृति के लिए विश्व में मशहूर है। इस समय, इसकी अर्थव्यवस्था की मुख्यता दिखाई दे रही है और भविष्य में और विकास करने के लिए तैयार है।

भारतीय अर्थव्यवस्था का विकास Indian economy growing size

1. सामूहिक और व्यक्तिगत उत्पादन के विकास

भारतीय अर्थव्यवस्था ने अंतिम दशक में तेजी से उत्पादन के क्षेत्र में प्रगति की है। सरकारी नीतियों और विदेशी निवेश के समर्थन से, स्वदेशी उत्पादन को बढ़ावा मिला है जो अनुभवी कंपनियों और नौसिखिए कारोबारियों को प्रोत्साहित कर रहा है।

2. सेवा उद्योग का विस्तार

भारत की अर्थव्यवस्था ( indian economy ) में सेवा उद्योग का विकास बेहद महत्वपूर्ण है। आपूर्ति श्रृंखला को मजबूत बनाने के लिए डिजिटलीकरण, बैंकिंग, अंतरराष्ट्रीय व्यापार और परिवहन सेवाओं में वृद्धि हुई है। यह सेक्टर रोजगार के अवसर प्रदान करता है और अर्थव्यवस्था के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

3. आर्थिक सुधार

भारत सरकार ने वित्तीय समृद्धि और आर्थिक सुधारों के लिए कई कदम उठाए हैं। टैक्स सिस्टम में सुधार, बैंकिंग संबंधी नियमों में परिवर्तन और विदेशी निवेश को आसान बनाने के लिए प्रयासों से अर्थव्यवस्था में सुधार हुआ है।

4. दिव्यांगता का सम्मान

भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian economy) में दिव्यांगता के लिए सम्मानजनक कदम उठाए जाने का भी विशेष महत्व है। विभिन्न सरकारी योजनाओं के माध्यम से दिव्यांग लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान किए जा रहे हैं, जिससे उनके समर्थन में समानता बढ़ी है।

भारत विश्वभर में अर्थव्यवस्था में प्रमुखता
भारत विश्वभर में अर्थव्यवस्था में प्रमुखता हासिल कर रहा है, यह परचेजिंग पावर पैरिटी (PPP) और अर्थव्यवस्था की गति में सुधार के कारण हो रहा है। भारत की बढ़ती हुई जनसंख्या, अर्थव्यवस्था में नौसिखिए कारोबारियों के योगदान, विश्वस्तरीय बाजार में उपस्थिति और सरकार के प्रो-विकास कार्यक्रमों के कारण भारत विश्वभर में अहम खिलाड़ी बन गया है।

अर्थव्यवस्था के इस विकास में परचेजिंग पावर पैरिटी (PPP) का महत्वपूर्ण योगदान है। यह विश्वस्तरीय बाजार में देशों की आर्थिक स्थिति की तुलना में माप करने का एक महत्वपूर्ण माप तंत्र है। इसके माध्यम से विभिन्न देशों के बीच उत्पादन और वस्तुओं की मूल्यांकन किया जा सकता है।

समाप्ति
भारत की अर्थव्यवस्था ( indian economy ) के विकास में परिवर्तनकारी कदम उठाए जाने का विशेष महत्व है। साथ ही, विभिन्न अर्थव्यवस्था के मापदंडों के अनुसार भारत विश्वभर में अर्थव्यवस्था में प्रमुखता हासिल कर रहा है। इस उपलब्धि के पीछे देश की बढ़ती हुई उपस्थिति, स्थिर नीतियों का पालन, और विश्वस्तरीय संबंधों का महत्वपूर्ण योगदान है। भारतीय अर्थव्यवस्था ने विश्व के सामने अपनी अधिकतम संख्या का दावा किया है और आने वाले समय में और विकास करने के लिए तैयार है।

यह भी पढ़े : कोर्ट ने किया बड़ा फैसला फ्रांस में मुस्लिम महिलाओं पर लगी पाबंदी को लेकर

फैट बर्न करने के 6 आसान उपाय : कैसे कम करें जिद्दी चर्बी को fat burn tips

2 thoughts on “Indian economy growing size भारत बना दुनिया की तीसरी बड़ी इकॉनमी, अमेरिका को पछाड़ चीन पहले नंबर पर, जापान-रूस हमसे पीछे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *