दिल्ली एनसीआर में भूकंप (Tremors Felt in Delhi NCR) अफगानिस्तान में था केंद्र

Tremors Felt in Delhi NCR

दिल्ली एनसीआर में भूकंप (Tremors Felt in Delhi NCR)अफगानिस्तान में था केंद्र ,धरती हिली 15 सेकंड तक! दिल्ली एनसीआर में भूकंप (Tremors Felt in Delhi NCR) के तेज झटके महसूस किये गए हैं।

इस भूकंप ने लोगों को दहशत में डाल दिया और बहुत से लोग अपने घरों से बाहर निकल आए। दिल्ली में भूकंप के तेज झटके की तीव्रता 5.8 रिक्टर स्केल थी, जबकि जम्मू कश्मीर में यह तेज़ता 5.6 रिक्टर स्केल थी। इससे खुद जम्मू कश्मीर के लोगों ने भी झटके महसूस किए और भयभीत हो गए।और घरों से बाहर आ गए ।

Tremors Felt in Delhi NCR

राहत की बात यह है के अभी तक कोई नुकसान की खबर नहीं मिली है , पाकिस्तान के रावलपिंडी ,इंडिया मे श्रीनगर ,मोहाली,चंडीगढ़ ,दिल्ली NCR मे भूकंप के झटको से यह क्षेत्र परभवित हुए है।


दिल्ली एनसीआर का भूकंपी इतिहास
दिल्ली एनसीआर एक ऐसा क्षेत्र है जहां भूकंप के झटके अक्सर महसूस होते हैं। पिछले वर्षों में भी कई बार दिल्ली में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं जो लोगों को भयभीत कर देते हैं। दिल्ली का भूकंपी इतिहास देखने से यह प्रतीत होता है कि इस क्षेत्र में भूकंप के प्रकोप का खतरा हमेशा रहता है और लोगों को सतर्क रहने की ज़रूरत है।
भूकंप और दिल्ली एनसीआर
दिल्ली एनसीआर भूकंप के लिए रेड जोन के रूप में जाना जाता है। यहां अक्सर भूकंप के झटके महसूस किए जाते हैं और इस बार के तेज झटके ने फिर से लोगों को अलर्ट कर दिया है। दिल्ली में पहले भूकंप आने के कारण यहां के लोग भूकंप के झटकों के लिए तैयार रहते हैं। इस बार के तेज भूकंप ने दिखाया है कि दिल्ली में भूकंप के भयानक प्रकोप का खतरा भी है और लोगों को हमेशा तैयार रहने की ज़रूरत है।

भूकंप की भविष्यवाणी
वैज्ञानिकों के अनुसार, भूकंप की भविष्यवाणी करना मुश्किल होता है क्योंकि यह अचानक होता है और इसका वक्तार आवेगी तक भविष्यवाणी नहीं की जा सकती है। लेकिन वैज्ञानिक लोग इस बात से सहमत हैं कि दिल्ली एनसीआर एक भूकंपी इलाका है जिसमें भूकंप के झटके अक्सर महसूस होते हैं।
भूकंप एक खतरनाक प्राकृतिक प्रकोप है जो लोगों को भयभीत करता है और उनकी सुरक्षा को ख़तरे में डाल सकता है। दिल्ली एनसीआर में भूकंप के तेज झटके महसूस किए जाने के बाद भी लोगों को सतर्क रहने की ज़रूरत है और सुरक्षा उपायों का पालन करना चाहिए। भूकंप से जुड़े मिथकों को सत्यापित करके लोगों को जागरूकता फैलानी चाहिए और सुरक्षित रहने की योजना बनानी चाहिए।

also read this: राजस्थान की महान महासती महारानी पद्मिनी की शौर्य गाथा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *